हैडलाइन

कर्नाटक के लोगों ने भी कांग्रेस-JDS गठबंधन को किया खारिज : GVL नरसिम्हा राव

कर्नाटक: GVL नरसिम्हा राव ने कहा विधायक अब तक जनता के गुस्से का खा’मियाजा भुगत रहे थे पर अब वो सम्भल गए है और इस्तीफा देने गए है।

भारतीय जनता पार्टी के सांसद GVL नरसिम्हा राव ने कर्नाटक में चल रही राजनैतिक उथल-फुथल पर नि’शाना सा’धा है। राव ने कहा है कि राज्य में कांग्रेस और JDS के गठबंधन को लोगों ने भी ख़ा’रिज कर दिया है। विधायक भी इस बात से वाखिफ़ हो गए है। वो अब तक जनता के गु’स्से का खा’मियाजा भुगत रहे थे पर अब वो सम्भल गए है और इस्तीफा देने गए है। राव ने कहा जनता BJP के साथ है और आम-चुनाव 2019 में हमें भारी समर्थन देकर उन्होंने इसे साबित भी किया है।

GVL Narasimha Rao, BJP MP: Congress-JD(S) coalition has been rejected by people of Karnataka. Despite their coalition in Lok Sabha polls, BJP won a massive mandate. It clearly shows the mood of people. MLAs certainly seem to be facing brunt of public anger against coalition.

37 people are talking about this

आपको बता दें कि अभी थोड़ी देर पहले ही कर्नाटक में वर्तमान सरकार के 11 विधायक स्पीकर कार्यालय इस्तीफा देने पहुंचे थे।  इसी के साथ कर्नाटक सरकार पर सं’कट के बादल छा गए। कांग्रेस के 8 और JDS के 3 विधायक इस्तीफा देने के लिए विधानसभा स्पीकर के कार्यालय पहुंचे। इन विधायकों में रमेश जरकीहोली, एच विश्वनाथ, प्रताप गौड़ा पाटिल भी शामिल हैं। इस्तीफा देने गए विधायक स्पीकर के कार्यालय के बाहर इंतज़ार कर रहे हैं क्योंकि स्पीकर अभी दफ्तर में मौजूद नहीं है।

न्यूज़ एजेंसी ANI के अनुसार ये विधायक जल्द ही इस्तीफा दे सकते हैं और इस्तीफा देने वालों की संख्या भी बढ़ सकती है। इंडिया टुडे ने जब उन विधायकों से सम्पर्क साधने की कोशिश की तो सभी के फ़ोन स्विच ऑफ निकले। बता दें कि कर्नाटक की राजनीति में ऐसे समय में भू’चाल आ रहा है जब CM कुमारस्वामी कर्नाटक में नहीं है। वो अमेरिका गए हुए है।

कर्नाटक सरकार पर ख’तरा: कांग्रेस के 9 और JDS के 3 विधायक इस्तीफा देने स्पीकर कार्यालय पहुंचे

आपको बता दें कि आम-चुनाव 2019 के परिणाम आने के बाद से ही कर्नाटक सरकार के गिरने की आ’शंका जताई जा रही थी। कांग्रेस लगातार BJP पर विधायकों को तो’ड़ने और उनकी खरीद-फ’रोख्त के आ’रोप लगती रही है। अगर ये इस्तीफा मंजूर होता है तो कर्नाटक की मौजूदा सरकार अल्पमत में आ जाएगी। वर्तमान में कर्नाटक सरकार के पास 108 विधायक है जबकि BJP विधायक के पास 105 विधायक है।


Hind Brigade News

Editor: Majid Siddique


साप्ताहिक बातम्या